5G Data Plan: 26 जुलाई से 5G Spectrum Auction शुरू हो गया है जिसमें Reliance Jio, Bharti Airtel, Vodafone India और Adani Data Networks शामिल हैं। यह ऑक्शन चार दिव चलेगा। वहीं, अब खबर है कि ऑक्शन के बाद भी इंडिया में 5G सर्विस आने में कुछ महीनों का समय लग सकता है। इस बीच एक रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि ग्राहकों को 5जी सर्विस के लिए ज्यादा रकम चुकानी पड़ सकती है। विश्लेषकों के अनुसार, एयरटेल और जियो जैसी कंपनियां शुरुआत में 5जी डाटा प्लान (5G Data Plan) के लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ सकती है।

4G से महंगे होंगे 5G प्लान

जैसा कि हमने बताया कि विश्लेषकों के अनुसार, एयरटेल और जियो जैसी दूरसंचार कंपनियां शुरुआत में 5जी डाटा प्लान के लिए ग्राहकों से ज्यादा कीमत ले सकती हैं। वहीं, सेलुलर नेटवर्क की नई पीढ़ी शुरुआत में देश में 4जी दरों के मुकाबले ज्यादा महंगी होने वाली है।

इतने महंगे होंगे 5G प्लान
इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार विशेषज्ञों ने संकेत दिए हैं कि शुरुआत में 5जी प्लान 4जी की तुलना में 10 से 12 फीसदी महंगे हो सकते हैं। दरअसल, ज्यादा कीमत के चलते टेलीकॉम कंपनियों में एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर (ARPU) में वृद्धि मिलेगी।
4G की तुलना में 5G में मिलेगी 10 गुना ज्यादा स्पीड
5जी सेवाओं के आने से इंटरनेट की स्पीड 4जी के मुकाबले करीब 10 गुना अधिक मिलने वाली है। वहीं, इसमें मिलने वाली इंटरनेट की स्पीड इतनी होगी कि मोबाइल पर एक फिल्म (मूवी) को कुछ सेकेंड में ही डाउनलोड की जा सकेगी।
4.3 लाख करोड़ रुपये के 5G Spectrum
26 जुलाई से शुरू होकर 14 अगस्त पर चलने वाले स्पेक्ट्रम निलामी में 4.3 लाख करोड़ रुपये की वैल्यू रखने वाले 5जी स्पैक्ट्रम की नीलामी होगी। इनमें 4.3 लाख करोड़ रुपये के कुल 72 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम शामिल होंगे जो 20 साल के लिए आवंटित किए जाएंगे। इस ऑक्शन में 600 MHz, 700 MHz, 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz तथा 2300 MHz फ्रीक्वेंसी वाले लो बैंड्स, 3300 MHz मिड फ्रीक्वेंसी बैंड्स तथा 26 GHz High frequency bands शामिल रहेंगे। उम्मीद है कि 5जी स्पेक्ट्रम ऑक्शन के बाद भारत सरकार को तकरीबन 80,000 से 1 लाख करोड़ रुपये तक का राजस्व प्राप्त हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Live Updates COVID-19 CASES